Search
Close this search box.

टमाटर की कीमतों में आई बड़ी गिरावट, आजादपुर मंडी में थोक भाव घटने से मिली रा

Tomato Price - India TV Paisa
Photo:PTI टमाटर

टामटर के दाम में तेजी से कमी आ रही है। इसके चलते राष्ट्रीय राजधानी के खुदरा बाजारों में टमाटर की कीमत सोमवार को घटकर औसतन 150 रुपये प्रति किलो रह गईं। यह रविवार को 178 रुपये प्रति किलो थीं। सरकारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। हालांकि, अमेजन और बिग बास्केट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में 170-190 रुपये प्रति किलो टमाटर बेच रही हैं। ब्लिंकिट 138 रुपये प्रति किलो के भाव इसे बेच रही है। केंद्र, भारतीय राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ (एनसीसीएफ) और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (नेफेड) के माध्यम से दिल्ली और कुछ अन्य शहरों में 80 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर टमाटर बेच रहा है। 

 मुंबई में टमाटर 155 रुपये प्रति किलो

उपभोक्ता मामलों के विभाग के आंकड़ों के अनुसार, टमाटर की अखिल भारतीय औसत खुदरा कीमत 120.29 रुपये प्रति किलो थी, जबकि अधिकतम कीमत हापुड़ में 237 रुपये प्रति किलो थी। न्यूनतम खुदरा मूल्य 47 रुपये प्रति किलो था जबकि मॉडल मूल्य 120 रुपये प्रति किलोग्राम था। अन्य महानगरों में, मुंबई में टमाटर 155 रुपये प्रति किलो, चेन्नई में 132 रुपये प्रति किलो और कोलकाता में 143 रुपये प्रति किलोग्राम पर बिक रहा था। दिल्ली के पश्चिम विहार में स्थानीय विक्रेता गुणवत्ता के आधार पर 120-140 रुपये प्रति किलो पर टमाटर बेच रहे हैं। पश्चिम विहार में फल और सब्जी विक्रेता ज्योतिष कुमार झा कहते हैं, ‘‘आजादपुर मंडी में थोक कीमतें घट गई हैं। हमने 100-120 रुपये प्रति किलो पर खरीदा और 120-140 रुपये प्रति किलो पर बेच रहे हैं।’’ रविवार को, केंद्र ने टमाटर की सब्सिडी वाली कीमत 90 रुपये प्रति किलो से घटाकर 80 रुपये प्रति किलो करने का फैसला किया। 

टमाटर की थोक कीमतों में कमी आई

एक सरकारी बयान में कहा गया है, ‘‘देश में कई स्थानों पर, जहां कीमतें असाधारण रूप से ऊंची थीं, टमाटर को 90 रुपये प्रति किलो की रियायती दर पर बेचने के सरकार के हस्तक्षेप के कारण टमाटर की थोक कीमतों में कमी आई है।’’ इसमें कहा गया है, ‘‘देश भर में 500 से अधिक केन्द्रों पर स्थिति का पुनर्मूल्यांकन करने के बाद रविवार, 16 जुलाई, 2023 से इसे 80 रुपये प्रति किलो पर बेचने का निर्णय लिया गया है।’’ टमाटर की कीमतें आम तौर पर जुलाई-अगस्त और अक्टूबर-नवंबर की अवधि के दौरान बढ़ती हैं। यह आम तौर पर कम उत्पादन वाले महीने होते हैं। मानसून के कारण आपूर्ति में व्यवधान के कारण टमाटर की दरों में भारी वृद्धि हुई है। भाषा राजेश राजेश रमण रमण 1707 2109 दिल्ली नननन

Latest Business News

Source link

Newsworldvoice.com ( News World Voice ) एक लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी न्यूज़ वेबसाइट है। इस न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से हम सभी ताजा खबरें और समाज से जुड़े सभी पहलुओं को आपके सामने प्रस्तुत करते है।

लगभग 25 लाख से अधिक व्यूज के साथ लगभग 1 लाख से अधिक दर्शक हमारे साथ जुड़ चुके है

अपने किसी भी सुझाव के लिए आप हमे newsworldvoice@gmail.com पर और व्हाट्सअप नंबर 8979456781 पर संपर्क करे

Leave a Comment