Search
Close this search box.

नोएडा में गैस वितरण लाइसेंस के लिए अडाणी समूह का आवेदन रद्द, इस कारण नहीं दी गई स्वीकृति

PNG- India TV Paisa
Photo:FILE गैस वितरण

तेल एवं गैस नियामक पीएनजीआरबी ने अडाणी समूह की कंपनी अडाणी टोटल गैस लिमिटेड के नोएडा में सीएनजी की खुदरा बिक्री और पाइप से घरों तक रसोई गैस पहुंचाने के लिए लाइसेंस लेने के आवेदन को खारिज कर दिया है। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस नियामकीय बोर्ड (पीएनजीआरबी) ने 14 जुलाई को जारी आदेश में कहा कि नोएडा में सीएनजी एवं पीएनजी वितरण को लेकर अडाणी टोटल गैस लिमिटेड नियमों के अनुरूप शर्तें पूरी नहीं करती है लिहाजा उसका आवेदन खारिज किया जाता है। किसी भी क्षेत्र में सीएनजी की खुदरा बिक्री या रसोई घरों तक पाइप से गैस पहुंचाने का कारोबार करने के लिए इच्छुक कंपनी को पीएनजीआरबी से लाइसेंस लेना होता है। पीएनजीआरबी के गठन से पहले यह अनुमति केंद्र सरकार देती थी। 

आईजीएल के पास है यह क्षेत्र 

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में गैस वितरण के लिए इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (आईजीएल) को मंजूरी मिली हुई है लेकिन अडाणी टोटल गैस ने दिल्ली से सटे इलाकों में उसके दावेदारी को चुनौती दी थी। आईजीएल 1990 के दशक के अंतिम वर्षों से ही दिल्ली और आसपास के इलाकों में सीएनजी का वितरण कर रही है। उसे दिल्ली से सटे नोएडा में भी अप्रैल, 2004 में केंद्र सरकार से वितरण प्राधिकार मिला था। हालांकि अडाणी टोटल गैस (पूर्व में अडाणी एनर्जी लिमिटेड) ने जून, 2008 में नोएडा के भौगोलिक क्षेत्र में प्राकृतिक गैस वितरण नेटवर्क खड़ा करने के लिए दावा पेश किया था। लेकिन उस समय पीएनजीआरबी उस आवेदन पर कोई निर्णय नहीं कर पाया और मामला उच्चतम न्यायालय में चला गया। उच्चतम न्यायालय ने गत वर्ष सितंबर में इस याचिका का निपटान करते हुए कहा था कि नियामक इस आवेदन पर निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है। उसके बाद से पीएनजीआरबी अडाणी समूह की कंपनी के आवेदन पर गौर कर रही थी। 

दो सदस्यों ने नहीं के पक्ष में मत दिया 

नियामकीय बोर्ड के तीन में से दो सदस्यों- गजेंद्र सिंह और ए के तिवारी ने आवेदन को खारिज करने के पक्ष में मत दिया। हालांकि तीसरे सदस्य अजीत कुमार पांडेय का मत था कि मामले के अपीलीय न्यायाधिकरण में विचाराधीन होने से नियामक के लिए आदेश पारित करना सही नहीं होगा। पीएनजीआरबी ने अपने आदेश में कहा, “अडाणी समूह की कंपनी की तरफ से 25 जून, 2008 को आवेदन के साथ जमा किए गए दस्तावेजों पर गौर करने के बाद बोर्ड ने यह आवेदन खारिज करने का फैसला किया है।” नियामकीय बोर्ड की 25 अप्रैल, 2023 को हुई बैठक में आवेदन के समय लाइसेंस के लिए जरूरी शर्तें पूरी नहीं करने के आधार पर यह फैसला किया गया। संबंधित क्षेत्र में गैस वितरण के लिए जरूरी उपकरणों की खरीद न होने को इसका आधार बनाया गया है। भाषा प्रेम प्रेम रमण रमण 1707 1904 दिल्ली नननन

Latest Business News

Source link

Newsworldvoice.com ( News World Voice ) एक लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी न्यूज़ वेबसाइट है। इस न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से हम सभी ताजा खबरें और समाज से जुड़े सभी पहलुओं को आपके सामने प्रस्तुत करते है।

लगभग 25 लाख से अधिक व्यूज के साथ लगभग 1 लाख से अधिक दर्शक हमारे साथ जुड़ चुके है

अपने किसी भी सुझाव के लिए आप हमे newsworldvoice@gmail.com पर और व्हाट्सअप नंबर 8979456781 पर संपर्क करे

Leave a Comment