Search
Close this search box.

मेरठ में एलएलबी के छात्रों ने मारा था कारोबारी दंपति को

पुलिस ने दो आरोपी पकड़े, लूट के इरादे से की हत्या, सामान बरामद

मेरठ।
ब्रहमपुरी थाना क्षेत्र के गौरीपुरा में हुई कारोबारी डीके जैन उनकी पत्नी अंजू जैन की हत्या मामले में देर रात पुलिस ने दो आरोपियों को अरेस्ट किया है। दोनों आरोपी एलएलबी के छात्र हैं। इनके पास से पुलिस को घर से लूटा हुआ सामान भी बरामद हुआ है।
पूछताछ में दोनों ने बताया कि उनका डीके जैन के परिवार से कोई ताल्लुक नहीं हैं। वो लूट के इरादे से घर में घुसे थे, लेकिन डीके जैन द्वारा विरोध करने पर उन्हें गोली चलानी पड़ी।
कारोबार धन कुमार जैन और उनकी पत्नी अंजू जैन की हत्या में पुलिस ने प्रेमपुरी के प्रियांशु और उसके दोस्त को पकड़ा है। दोनों एलएलबी के छात्र हैं। गुरुवार सुबह 7:25 बजे दो हेममेट पहने दो बदमाश घर में घुसे। उन्होंने बेटे अभिषेक और पोती अंशिका को रस्सी से बांध दिया। इसके बाद धनकुमार और अंजू जैन के कमरे में पहुंचे। अंजू ने बदमाशों का विरोध किया। उसके बाद दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी।
सीसीटीवी फुटेज से बदमाशों पर तक पहुंची पुलिस
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने वारदात से पर्दा उठा दिया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, बदमाश रेलवे रोड थाने के प्रेमपुरी के रहने वाले एलएलबी के छात्र है। पुलिस ने प्रियांशु और उसके साथी को पकड़ लिया है। उनके कब्जे से लूटी हुई ज्वेलरी और नकदी भी बरामद कर ली गई।
एसएसपी रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि पुलिस की आठ टीमें लगाकर वारदात का पर्दाफाश कर दिया है। दोनों बदमाशों की धरपकड़ कर ली गई है। उनके घर से लूटा हुआ सामान भी बरामद कर लिया है। बदमाशों का परिवार से कोई कनेक्शन नहीं है। रेकी करने के बाद वारदात की गई है।
लूट की रकम से शुरू करना था बिजनेस
शुरुआती पूछताछ में दोनों आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वो अपना कारोबार शुरू करना चाहते थे, इसके लिए पैसे की जरूरत थी। उन्होंने लूट की रकम से कारोबार शुरू करने का प्लान बनाया। काफी दिनों तक लूट के लिए घर की तलाश करते रहे। उन्होंने रेकी कर डीके जैन का घर चुना। 15 दिनों तक आरोपियों ने डीके जैन के घर की रेकी की थी। उन्हें पता था कि सुबह डीके जैन का बड़ा बेटा नवीन, बहू और दोनों बच्चे बाहर जाते हैं। घर में केवल दोनों बुजुर्ग रह जाते हैं। इसलिए उन्होंने वारदात के लिए सुबह का वक्त चुना। घर में सीसीटीवी नहीं हैं इसका पता भी उन्होंने लगा लिय था। ये घर सड़क पर होते हुए भी सुबह इलाका सुनसान रहता है। इसलिए इसे लूट के लिए चुना।
पोती को देखकर रह गए भौचक्के
आरोपी जब लूट के लिए घर में घुसे तो उन्हें अंदाजा नहीं था कि पोती आशी आज घर में हैं, स्कूल नहीं गई। आरोपियों ने घर में घुसते ही पहले नार्वे से आए छोटे बेटे अभिषेक को बंधक बनाकर कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद अंजू जैन, डीके जैन के कमरे में घुसे। वो केवल माल लूटना चाहते थे। लेकिन जैन दंपत्ति ने दोनों बदमाशों को पकड़कर विरोध किया तो आरोपियों ने गोली चला दी। इससे डीके जैन की मौके पर मौत हो गई। पत्नी को गोली लगी उसे बंधक बनाकर बाथरूम में बंद कर दिया। आवाज सुनकर पोती आशी आ गई। आशी को देखकर आरोपी हक्का, बक्का रह गए, उन्होंने उसे भी बंधक बनाकर डाल दिया। दूधिया आया तो उसे भी बंधक बनाकर रसोई में बंद कर दिया।
सीसीटीवी की मदद से आरोपी तक पहुंची पुलिस
पुलिस दोनों आरोपियों को सीसीटीवी की मदद से पकड़ सकी। घटनास्थल से लेकर कंकरखेडा बाइपास तक के कैमरे चैक किए। इसमें दो आरोपी दिल्ली नंबर की बाइक से वादात के बाद घर से निकलकर दिखे। ज्यादातर सीसीटीवी में दोनों युवक बार-बार नजर आए। लेकिन रेलवे रोड पर दो अलग अलग कैमरों को उन्होंने काफी देर में पार किया। इससे पुलिस को दोनों का यहां रुकने की बात पर शक हुआ। इसी बिंदु पर पुलिस आगे बढ़ी और जांच की तो एक की गतिविधि पर संदेह लगा। इसके आधार पर पुलिस ने उसे देर रात दबोचा पूछताछ में उसने अपने दूसरे साथी का नाम, पता बताया वो भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया।
प्रेमपुरी जाकर घर में रखा लूट का सामान
दोनों आरोपित वारदात के बाद गौरीपुरा होते हुए रेलवे रोड चौराहे से प्रेमपुरी गए। लूटे जेवर, सामान प्रियांशु के घर रखा। पुलिस सीसीटीवी का पीछा करते हुए प्रियांशु के घर तक पहुंची। सामान भी बरामद किया। देर रात एसओजी ऑफिस में एसएसपी ने खुद इन दोनों से पूछताछ की है।

Newsworldvoice.com ( News World Voice ) एक लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी न्यूज़ वेबसाइट है। इस न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से हम सभी ताजा खबरें और समाज से जुड़े सभी पहलुओं को आपके सामने प्रस्तुत करते है।

लगभग 25 लाख से अधिक व्यूज के साथ लगभग 1 लाख से अधिक दर्शक हमारे साथ जुड़ चुके है

अपने किसी भी सुझाव के लिए आप हमे newsworldvoice@gmail.com पर और व्हाट्सअप नंबर 8979456781 पर संपर्क करे

Leave a Comment