Search
Close this search box.

मेरठ: अंतरराष्ट्रीय जाट संसद में उठी एकजुटता की आवाज

– भावी पीढ़ी के लिए चिंतन करना होगाः हरेंद्र मलिक

मेरठ। सुभारती विश्वविद्यालय में आयोजित अंतरराष्ट्रीय जाट संसद में वक्ताओं ने लोगों से भावी पीढ़ी का भविष्य संभालने का आह्वान किया। समाज के उत्थान के लिए एकजुट होकर अपने हकों के लिए लड़ने पर बल दिया।
केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि ऐसे आयोजनों से समाज के लोग एक मंच पर आकर समाज उत्थान में मदद करते हैं। ऐसे  आयोजन होते रहने चाहिए। उन्होंने कहा कि बिरादरी जब भी संकट में आई तो मैं अपने समर्थ के अनुसार समाज के लोगों की मदद की। मुजफ्फरनगर के दंगे हो या हरियाणा के, हर जगह समाज के लोगों का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि हमें भेदभाव बुलाकर एकजुट रहना होगा। साथ ही सभी को साथ मिलकर चलना होगा।
पूर्व सांसद सपा के राष्ट्रीय महासचिव हरेंद्र मलिक ने समाज की स्थिति पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि हम विकट समय में जी रहे हैं। हमारे हालत बहुत खराब है। हमें अपनी  पीढ़ी के लिए चिंतन मनन करना होगा। नौजवान नशे के दलदल में फंसा है उसे सही राह दिखानी होगी।
उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में हमें और कार्य करना होगा। मंचासीन लोग भी शिक्षा के लिए काम करें ताकि समाज के अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार मिल सके। हमारा गौरव शाली इतिहास रहा है हम अपनी पीढ़ी के लिए क्या कर रहे हैं यह हमें सोचना होगा।
यशपाल मलिक ने कहा समाज के उत्थान और युवाओं को रोजगार के लिए आरक्षण जरूरी है। समाज आरक्षण के लिए संघर्ष करते रहें। उन्होंने कहा कि आरक्षण लेना है तो राजनीति से ऊपर उठाना पड़ेगा। सत्ता में मौजूद समाज के लोगों को भी सदन में इसकी मांग उठानी होगी उन्होंने कहा कि संगठनों पर कब्जा करना बंद कर हमें एकजुट होना पड़ेगा।
इस मौके पर भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष मोहित बेनीवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष गौरव चौधरी, पूर्व विधायक उमेश मलिक, सहारनपुर के जिला पंचायत अध्यक्ष मांगेराम चौधरी, अतुल कुमार सुभाष मलिक आदि ने भी विचार व्यक्त किया।
कार्यक्रम संयोजक राम अवतार पलसानिया, परमेश्वर कलवानिया ने सभी का आभार जताया। कार्यक्रम में स्थानीय जनपदों के अलावा राजस्थान, हरियाणा के भी काफी संख्या में लोग शामिल हुए। समाज के लोगों को पगड़ी बांधकर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। राजस्थानी कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति दी।

जाट संसद की प्रमुख मांगें
– डॉ. हरीसिंह सहित जाटों के महापुरुषों का इतिहास देश के शिक्षा के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए।
– देश के नए संसद भवन में महाराजा सूरजमल का नए संसद भवन में स्मारक बने।
– पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह, राजा महेंद्र प्रताप, सर छोटूराम को भारत रत्न मिले।
– आंदोलन के दौरान जाटों पर लगे मुकदमे वापस लिए जाएं।
– मेरठ मेट्रो, रेपिड रेल स्टेशन का नाम पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह मेट्रो स्टेशन होना चाहिए
– पूरे देश में जाटों की हर बिरादरी को पूर्ण आरक्षण दिया जाए।

Newsworldvoice.com ( News World Voice ) एक लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी न्यूज़ वेबसाइट है। इस न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से हम सभी ताजा खबरें और समाज से जुड़े सभी पहलुओं को आपके सामने प्रस्तुत करते है।

लगभग 25 लाख से अधिक व्यूज के साथ लगभग 1 लाख से अधिक दर्शक हमारे साथ जुड़ चुके है

अपने किसी भी सुझाव के लिए आप हमे newsworldvoice@gmail.com पर और व्हाट्सअप नंबर 8979456781 पर संपर्क करे

Leave a Comment