Search
Close this search box.

अधूरी कहानीः एकबार फिर पंचायत की बलि चढ़ा प्रेमी युगल

– उन्हें अलग होना नहीं था मंजूर, लिहाजा लगा ली फांसी

– मरने से पहले आमिर ने परिजनों से कहा साजिदा को ले जाओ

मेरठ/मुजफ्फरनगर। कहते हैं प्रेमी पागल होते हैं। जी हां! शायद आमिर और साजिदा भी एक-दूसरे के प्रेम में पागल थे। लिहाजा जब उन्हें लगा कि समाज उन्हें एकसाथ रहने नहीं देगा तो एक-दूजे का हाथ पकड़ा और इस लाफानी दुनिया को अलविदा बोल दिया। सुनने में यह किसी फिल्म की कहानी जैसा लग रहा है, लेकिन यह हकीकत है।
मुजफ्फरनगर के आमिर और शाजिदा ने एक-दूजे का हाथ पकड़ा और दुपट्टे से फांसी लगा ली। मरने से पहले आमिर ने फोन मिलाया और परिजनों से कहा कि साजिदा को उठाकर ले जाओ।
यह कहानी मुजफ्फरनगर के रतनपुरी थाना क्षेत्र के गांव रियावली से शुरू होकर मेरठ के जेपी होटल में दम तोड़ देती है। रियावली के प्रेमी युगल आमिर और शाजिदा को जब यह लगा कि परिजनों को उनका साथ पसंद नहीं और उन्होंने रिपोर्ट दर्ज करा दी है तो उनके सब्र का बांध टूट गया और दोनों प्रेम के नाम पर खुज की जान लुटा दी।
मरने से पहले आमिर ने होटल से गांव फोन करके कहा कि आकर शाजिदा को ले जाओ। इसके बाद दुपट्टे से फांसी का फंदा बनाया। एक-दूसरे का हाथ पकड़ा और फांसी लगा ली। मरने के बाद भी दोनों के हाथ एक-दूसरे के हाथ में थे।
आमिर (20) और साजिदा (19) एक दूजे के साथ जीने मरने की कसमें खा चुके थे। दोनों के एक ही गांव के होने के चलते परिजन इस रिश्ते से नहीं माने तो दोनों ने घर छोड़ दिया। मंगलवार को दिनभर बिरादरी के लोगों की पंचायत चलती रही। बुधवार को आमिर और उसके परिजनों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज होने के बाद दोनों ने आत्महत्या करने का फैसला कर लिया।
मरने से पहले आमिर ने होटल के फोन से रतनपुरी पुलिस और साजिदा के परिजनों को फोन किया। बताया कि वो दोनों मेरठ के होटल जेपी में हैं। आकर साजिदा को ले जाओ।
पुलिस और परिजन पहुंचे तो उन्होंने कर्मचारियों से कमरा नंबर पूछा। कमरे का दरवाजा भीतर से बंद नहीं था इसलिए गेट खुद ही खुल गया। बाथरूम का दरवाजा भी खुला था। पुलिस ने देखा तो दोनों के शव एक ही दुपट्टे से लटके हुए थे।
पुलिस को एक फोटो मिला है, जिसमें दोनों एक साथ हैं। ऐसा फोटो शादी के रजिस्ट्रेशन का होता है। हालांकि ये कोई स्पष्ट नहीं कर पा रहा कि दोनों ने निकाह करने के बाद रजिस्ट्रेशन कराया था। थाना प्रभारी रतनपुरी पंकज राय ने बताया कि शाहिदा के परिजनों की तहरीर पर बुधवार को अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की गई थी।

साजिदा के घर दूध लेने आता था आमिर
रियावली निवासी दूध कारोबारी हाजी इकबाल दूध खरीदकर डेयरी पर पहुंचाते हैं। उनका बेटा आमिर पशुओं का दूध लेने रोजाना पड़ोस की ही साजिदा के घर जाता था। इसी दौरान दोनों में प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। दो अक्तूबर को दोनों घर छोड़कर चले गए। कुछ लोगों ने आमिर को बाइक पर जाते हुए देखा था।
बताया गया कि आमिर मुस्लिम राजपूत था, जबकि साजिदा की बिरादरी अब्बासी है। माना जा रहा है कि दोनों को निकाह न होने का डर था। इसीलिए आत्मघाती कदम उठाया।

Newsworldvoice.com ( News World Voice ) एक लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी न्यूज़ वेबसाइट है। इस न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से हम सभी ताजा खबरें और समाज से जुड़े सभी पहलुओं को आपके सामने प्रस्तुत करते है।

लगभग 25 लाख से अधिक व्यूज के साथ लगभग 1 लाख से अधिक दर्शक हमारे साथ जुड़ चुके है

अपने किसी भी सुझाव के लिए आप हमे newsworldvoice@gmail.com पर और व्हाट्सअप नंबर 8979456781 पर संपर्क करे

Leave a Comment