Search
Close this search box.

तफ्तीशः आशिकी के भूत ने युवती को बना दिया बहशी

– फावड़े से काटकर दो मासूम बहनों को दी दर्दनाक मौत

– बड़ी बहन को प्रेमी संग देख मां-बाप से कर दी थी शिकायत

इटावा। दरिंदगी की इससे बड़ी मिसाल कोई और नहीं हो सकती। एक बड़ी बहन ने फावड़े से काट कर अपनी दो छोटी मासूम बहनों को दर्दनाक मौत दे डाली। वजह भी बेहद मामूली रही। दरअसल, दोनों मासूमों ने अपनी दीदी को उसके प्रेमी के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था और मां-बाप से उसकी शिकायत करना दोनों की मौत का कारण बन गया। फिलहाल कातिल बड़ी बहन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
यह घटना घटना इटावा के बलरई क्षेत्र के गांव बहादुरपुर की है। पुलिस की तफ्तीश में सामने आया कि हत्यारी बड़ी बहन को घर में बार-बार छोटी बहनों के सामने बेइज्जत होना पड़ रहा था। इसी से क्षुब्ध होकर उसने दोनों बहनों को मौत के घाट उतार दिया।
पुलिस ने 18 घंटे की जांच-पड़ताल में मिले सुरागों के बाद सख्ती से पूछताछ की तो बड़ी बहन ने अपना जुर्म कबूल कर सच्चाई उजागर कर दी। आरोपी युवती को जेल भेज दिया गया है। एसपी देहात सत्यपाल सिंह ने पुलिस लाइन सभागार में बताया कि बलरई थाना क्षेत्र के बहादुरपुर गांव के जयवीर सिंह की दो बेटियों शिल्पी (7) और रोशनी (5) की रविवार शाम गला काटकर हत्या कर दी गई थी।
इस पर पुलिस के साथ ही फोरेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंची थी। मामले की गहनता से जांच की गई तो घर में बड़ी बहन अंजली (19) के कपड़े सूखते हुए मिले। शाम को कपड़े धोने की जानकारी करने पर कोई सही जवाब नहीं दे सका। इसके बाद फोरेंसिक टीम को घर के आंगन में पड़े टिनशेड में रखा फावड़ा मिला। इसे भी पूरी तरह साफ किया गया था।
कुछ खून के हल्के छींटे दिखने पर फोरेंसिक टीम ने उसकी जांच की। सूख रहे कपड़ों की जांच करने में खून लगे होने की बात पता चली। इस पर अंजली से सख्ती से पूछताछ की तो उसने वारदात को अंजाम देने का सच बताया।

प्रेम प्रसंग की शिकायत करने पर खोया आपा
पुलिस की पूछताछ में अंजली ने बताया कि छोटी बहनों ने जब उसके प्रेम प्रसंग की शिकायत माता-पिता से कर दी तो उसने आपा खो दिया और उनकी फावड़ा मारकर हत्या कर दी। दरअसल एक सप्ताह पहले घर आए प्रेमी के साथ दोनों बहनों ने अंजली को देख लिया था। शिल्पी ने इसकी शिकायत माता-पिता से की थी। तबसे अंजली शिल्पी से गुस्सा चल रही थी। वह इतनी आक्रोशित थी कि रविवार शाम उसे अकेला पाकर कमरे में फावड़ा लेकर मार डाला। इस बीच ही चीख सुनकर सबसे छोटी बहन रोशनी आ गई तो अंजली ने दूसरे कमरे में ले जाकर उसे भी मार डाला।

पहले मासूम शिल्पी को उतारा मौत के घाट
पुलिस की पूछताछ में आरोपी अंजली ने बयान दर्ज कराया कि शाम करीब पांच बजे माता-पिता खेत पर गए थे। दो भाई बकरियां चराने गए थे। सभी के आने में लगभग एक घंटे का समय था। ऐसे में घर के एक कमरे में शिल्पी के साथ खेलते-खेलते अंजली ने उस पर फावड़े से हमला कर दिया। रोशनी की चीख सुनकर आंगन में खेल रही रोशनी दौड़कर आ गई।
उसने खून से लथपथ शिल्पी को देखा तो वह चिल्लाकर रोने लगी। इस पर उसका मुंह बंद करके दूसरे कमरे में ले गई। खुद को बचाने के लिए उसे भी फावड़े से हमला कर मार डाला।

मारने के बाद चारा लेने खेत चली गई
बताया कि दोनों बहनों के मरने के बाद बाथरूम में जाकर फावड़ा धोया और उसे आंगन में पड़े टिनशेड के नीचे यथास्थान पर रख दिया। इसके बाद खून से लथपथ कपड़े धोकर नहा ली। कपड़े सूखने के लिए डालकर बाहर से कुंडी लगाकर खेत पर चारा लेने चली गई। वहां से सबके साथ ही आई थी, लेकिन कमरे में जाकर उसने सबसे पहले चिल्लाना शुरू कर दिया ताकि उस पर किसी को शक न हो।

दो घंटे में पुलिस के सामने हो चुकी थी तस्वीर साफ
सूचना पर पहुंचे एसपी देहात सत्यपाल सिंह, एसपी सिटी कपिल देव सिंह, सीओ अतुल प्रधान और फोरेंसिक टीम की पड़ताल में लगभग पूरा मामला स्पष्ट हो चुका था। आंगन में सूख रहे कपड़ों को देखकर ही अधिकारियों को घर के व्यक्ति की शामिल होने की संभावना हो गई थी। कपड़ों के बारे में अंजली की मां सुशीला देवी से पूछा तो उन्होंने कपड़े धोने की बात से इन्कार कर दिया।
इस पर पुलिस ने अंजली से पूछा तो वह सकपका गई। पुलिस ने उससे कड़ाई से पूछताछ की तो पहले हां और फिर न करने लगी। रातभर पुलिस को बयान पलटकर परेशान करने के बाद सुबह करीब पांच बजे पुलिस की सख्ती देखकर अंजली ने घटना कबूली। इस पर पुलिस ने कपड़ों के साथ ही फावड़ा, कपड़े धोने वाला ब्रश सभी कब्जे में ले लिए।

Newsworldvoice.com ( News World Voice ) एक लोकप्रिय राष्ट्रीय हिन्दी न्यूज़ वेबसाइट है। इस न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से हम सभी ताजा खबरें और समाज से जुड़े सभी पहलुओं को आपके सामने प्रस्तुत करते है।

लगभग 25 लाख से अधिक व्यूज के साथ लगभग 1 लाख से अधिक दर्शक हमारे साथ जुड़ चुके है

अपने किसी भी सुझाव के लिए आप हमे newsworldvoice@gmail.com पर और व्हाट्सअप नंबर 8979456781 पर संपर्क करे

Leave a Comment