Search
Close this search box.

सुरक्षित और संप्रभु राष्ट्र के लिए सेना जरूरीः सीएम योगी

– मुख्यमंत्री ने सेना दिवस पर देखी हथियारों की प्रदर्शनी

लखनऊ। सेना दिवस के उपलक्ष्य में छावनी स्थित सूर्य खेल परिसर में नो योर आर्मी मेले का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुब्बारे छुड़ाकर किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भारतीय सेना 140 करोड़ लोगों के शौर्य का प्रतीक है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सेना दिवस के आयोजन के लिए लखनऊ को चुना गया है इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सेना का आभार।
सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के युवाओं को नजदीक से भारतीय सेना को जानने, शौर्य और पराक्रम को समझने का अवसर प्राप्त होगा। गतका दल की प्रस्तुति पर सीएम ने कहा कि भारत की प्राचीन युद्ध कला से कैसे उस कालखंड में युवाओं को पारंगत कर आक्रांताओं का जवाब देने के लिए तैयार किया जाता था। यह जानना चाहिए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी ने सेना के हथियारों की प्रदर्शनी देखी और टैंक के ऊपर भी चढ़े।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश वीरों की भूमि है। जांबाजों ने अपना बलिदान दिया और गौरव भी बढ़ाया है। देश की सीमाओं की रक्षा करने में अपनी आहुति देने वाले बलिदानियों के परिजनों को 50 लाख रुपये और नौकरी सरकार दे रही है। सेना के हथियारों में आत्मनिर्भरता प्राप्त कर सकें इसके लिए भी प्रयास हो रहे हैं। वर्ष 2018 में ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में प्रधानमंत्री ने दो डिफेंस कॉरिडोर दिए एक तमिलनाडु में और एक उत्तर प्रदेश में।
लखनऊ में ब्रह्मोस मिसाइल, झांसी में डिफेंस कॉरिडोर के तहत भारत डायनामिक काम कर रहा है। कानपुर और अलीगढ़ में भी काम हो रहा है। दुनिया के तमाम देशों को भी आपूर्ति कर रहे हैं। सशक्त सेना ही एक सुरक्षित और संप्रभु राष्ट्र का सपना साकार कर सकती है।
उन्होंने यह भी कहा कि देश को पहला सैनिक स्कूल यूपी ने 1960 में दिया था। पांचवें नए सैनिक स्कूल को गोरखपुर में बना रहे हैं। उत्तर प्रदेश ने 16 सैनिक स्कूल का प्रस्ताव दिया गया है,, जबकि देश में कुल 100 स्कूल बनेंगे। बालिकाओं के लिए वृन्दावन में सैनिक स्कूल बनाया गया है। यह अपनी तरह का पहला स्कूल है।

 

नए साल की सुबह सीएम योगी ने किया रुद्राभिषेक

– जनता दर्शन में सुनी लोगों की समस्याएं

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नए साल की सुबह गोरखनाथ मंदिर, गोरखपुर में ‘हवन’ और ‘रुद्राभिषेक’ किया। सीएम योगी ने नए साल के पहले दिन की शुरुआत भगवान श्रीराम के आराध्य देवाधिदेव महादेव के अभिषेक (रुद्राभिषेक) और हवन अनुष्ठान से की। इस दौरान उन्होंने भगवान भोलेनाथ से सभी प्रदेशवासियों के जीवन में सुख, समृद्धि और शांति की प्रार्थना की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक्स पर पोस्ट किया, “आप सभी को अंग्रेजी नव वर्ष 2024 की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।”
जानकारी के मुताबिक नए साल के पहले दिन सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर के दर्शन के दौरान मंदिर में अपने आवास के प्रथम तल पर स्थित शक्तिपीठ में विधि-विधान से रुद्राभिषेक किया। विद्वान आचार्यों एवं पुरोहितों ने रुद्राभिषेक का अनुष्ठान संपन्न कराया। रुद्राभिषेक के बाद मुख्यमंत्री ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच हवन और आरती की। विधि-विधान से पूजा-अर्चना पूरी होने के बाद मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों के स्वस्थ, सुखी, समृद्ध और शांतिपूर्ण जीवन की कामना की।

गोरखनाथ मंदिर में लगाया जनता दरबार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर के प्रांगण में जनता दरबार भी लगाया और जनता दरबार में आये लोगों की समस्याएं सुनीं और अधिकारियों को उनकी समस्याओं के समाधान के निर्देश दिये। इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद सहारनपुर में हुई सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

डॉ. आंबेडकर पर शोधकर्ताओं को मिलेगी छात्रवृत्ति

– परिनिर्वाण दिवस पर सीएम योगी ने किया ऐलान

लखनऊ। डॉ. भीमराव आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके अस्थिकलश स्थल का जायजा लिया और उनकी प्रतिमा पुष्पांजलि अर्पित की। इस मौके पर उन्होंने एलान किया निर्माणाधीन आंबेडकर स्मारक में शोध करने वाले छात्रों को प्रदेश सरकार की तरफ से छात्रवृत्ति दी जाएगी।
इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि बाबा साहब ने कहा था कि हम सबसे पहले और अंत में भारतीय हैं। जो लोग भारत को कोसते हैं वह बाबा साहब का भी अपमान करते हैं। दुनिया में जब भी दबे-कुचले समाज के उत्थान की बात आती है तो बाबा साहब का नाम याद आता है। हमने समाज को जाति के आधार पर नहीं बांटा बल्कि गरीब, दलित, कमजोर वर्ग के विकास पर ध्यान दिया। हर गरीब और वंचित को प्रधानमंत्री आवास और शौचालय की सुविधा का लाभ मिलना चाहिए।
उन्होंने कहा कि यूपी में सपा की सरकार चेहरा देखकर लाभ देती थी। दलितों और गरीबों के नाम पर राजनीतिक रोटी सेकी जाती थी लेकिन करते कुछ नहीं थे। मोदी सरकार ने बाबा साहब के सपनों को साकार किया है। जो लोग भारत विरोधी गतिविधियां चला रहे हैं वह बाबा साहब का अपमान करते हैं। यह सरकार हर गरीब और दलित के साथ खड़ी है।
हर गरीब और दलित को आवास और राशन कार्ड की सुविधा दी गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहब की प्रेरणा से हर गरीब और दलित को आवास और राशन कार्ड की सुविधा दी गई है। किसी प्रकार का छुआछूत नहीं हो इस मिशन पर काम कर रहे हैं। प्रत्येक गरीब को आवास दिलाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। श्रमिकों के बच्चों के लिए कॉन्वेंट स्कूल की तर्ज पर अटल आवासीय विद्यालय बनाया गया है। हर जिले में परिनिर्वाण दिवस के कार्यक्रम हो रहे है। बाबा साहब के संकल्प से लोगों को जोड़ रहे हैं।
उन्होंने सोशल मीडिया पर कहा कि आधुनिक भारत के निर्माण में अविस्मरणीय योगदान देने वाले बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर का पूरा जीवन लोकतंत्र की जीवंत पाठशाला है। संविधान शिल्पी, ‘भारत रत्न’ बाबा साहब का हर कार्य, हर निर्णय ‘अंत्योदय’ को समर्पित था। ऐसे हुतात्मा को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर विनम्र श्रद्धांजलि!
इस मौके पर उनके साथ उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, समाज कल्याण राज्यमंत्री स्वतन्त्र प्रभार असीम अरुण और आंबेडकर महासभा के लालजी निर्मल भी मौजूद थे।

यूपी ने अंधकार का लंबा दौर देखाः सीएम योगी

– बोले- अब बीमारू से विकसित राज्य बनने की ओर है अग्रसर

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि उत्तर प्रदेश अंधकार के लंबे दौर से निकलकर ‘बीमारू’ राज्य कहे जाने वाले राज्य से विकसित राज्य बनने की ओर अग्रसर है।
सीएम योगी लखनऊ में आयोजित फिक्की की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने यह भी दावा किया कि उत्तरी राज्य जल्द ही देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर उभरेगा। उन्होंने कहा कि 1985-86 के बाद उत्तर प्रदेश ने विकास के मामले में अंधकार का एक लंबा दौर देखा। उत्तर प्रदेश के बारे में देश और दुनिया की धारणा बहुत अलग हो गई। प्रदेश में युवाओं, व्यापारियों और नागरिकों के सामने पहचान का संकट था। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में उत्तर प्रदेश अंधकार से बाहर निकलकर बीमारू राज्य से विकसित राज्य बनने की ओर अग्रसर है।
सीएम योगी ने कहा कि 38 साल बाद फिक्की अपनी राष्ट्रीय कार्यकारी समिति की बैठक लखनऊ में कर रही है। मैं उत्तर प्रदेश की जनता की ओर से आप सभी का स्वागत करता हूं। यह मेरे लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। उन्होंने यह भी कहा कि हमने उद्योग को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक सभी बाधाओं को दूर करने के लिए खुले दिल और खुले दिमाग से सुधार किए हैं। उन्होंने कहा कि उद्योगों को बढ़ाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक कम अपराध है, उन्होंने दावा किया कि आज संगठित अपराध शून्य पर हैं।
यूपी सीएम ने कहा कि आज कोई किसी का अपहरण कर फिरौती नहीं मांग सकता और कोई अपनी मर्जी से किसी उद्योग को बंद नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि राज्य जल्द ही छठी नहीं बल्कि देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा और अगले पांच साल महत्वपूर्ण होंगे। सीएम योगी ने कहा, ”आने वाले वर्षों में यूपी देश की अग्रणी अर्थव्यवस्था बनेगी और देश के ग्रोथ इंजन के रूप में अपनी भूमिका निभाएगी।” उन्होंने कहा, ”कारोबार करने में आसानी के मामले में यूपी 14वें स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंच गया।”

दबंगों के खिलाफ करें कड़ी कार्रवाईः सीएम योगी

– जनता दर्शन में मुख्यमंत्री ने सुनी लोगों की फरियाद

– बोले- जरूरतमंदों तक पहुंचाएं कल्याणकारी योजनाओं का लाभ

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि यदि कहीं कोई जमीन कब्जा या दबंगई कर रहा हो तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाए। हर पीड़ित की समस्या का निस्तारण निष्पक्ष रूप से उसकी संतुष्टि के अनुरूप किया जाना सुनिश्चित होना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि जरूरतमंदों को शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाया जाए।
सीएम योगी ने ये निर्देश मंगलवार सुबह गोरखनाथ मंदिर में जनता दर्शन कार्यक्रम में लोगों की समस्याओं को सुनने के दौरान दिए। मंदिर परिसर के हिंदू सेवाश्रम में आयोजित जनता दर्शन में उन्होंने करीब 200 लोगों की समस्याओं को सुना और अधिकारियों को त्वरित निस्तारण के लिए निर्देशित किया। कुर्सियों पर बैठाए गए लोगों तक वह खुद पहुंचे और एक-एक करके सबकी समस्याएं सुनीं।
उन्होंने सबको आश्वस्त किया कि किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। सबके प्रार्थना पत्रों को संबंधित अधिकारियों को संदर्भित करते हुए त्वरित और संतुष्टिपरक निस्तारण का निर्देश देने के साथ लोगों को भरोसा दिलाया कि सरकार हर पीड़ित की समस्या का समाधान कराएगी।
मुख्यमंत्री के समक्ष जनता दर्शन में कई लोग इलाज के लिए आर्थिक सहायता की गुहार लेकर पहुंचे थे। सीएम योगी ने पहले उनसे आयुष्मान कार्ड के बारे में पूछा। न होने की दशा में उन्हें आश्वस्त किया कि सरकार इलाज के लिए भरपूर मदद करेगी। उनके प्रार्थना पत्रों को अधिकारियों को देते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि इलाज से जुड़ी इस्टीमेट की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूर्ण करा कर शासन में उपलब्ध कराया जाए। साथ ही उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि हर जरूरतमंद का आयुष्मान कार्ड बनवाया जाए। राजस्व व पुलिस से जुड़े मामलों को सीएम ने पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता के साथ निस्तारित करने के निर्देश दिए।
———————–

युवाओं के लिए नई प्रेरणा है वाई 20: सीएम योगी

– काशी में शुरू हुआ चार दिवसीय वाई20 सम्मेलन
वाराणसी। काशी में चल रहे वाई20 सम्मेलन में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज का युवा केवल युवा नहीं बल्कि आज का नेता है और कल का निर्माता है। वाई20 समिट में जो भी चर्चाएं होंगी वह दुनिया के सामने युवाओं को उनकी सकारात्मक ऊर्जा के साथ जोड़ते हुए उनके प्रतिभा का अवसर प्रदान करेगी।
उन्होंने कहा कि युवा शक्ति की प्रतिभा का सम्मान करते हुए आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करने की जरूरत है। वाई20 का आयोजन देश ही नहीं, दुनिया भर के युवाओं के लिए एक नई प्रेरणा का संदेश देगा।
इस मौके पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी युवा शक्ति भारत के पास है। यह युवा शक्ति ही हमारी राष्ट्र शक्ति है। युवा शक्ति ही भारत को दुनिया के सबसे पहले तीन देशों में लाकर खड़ा कर देगी। इसका मुझे पूरा विश्वास है।
वाई20 सम्मेलन में प्रतिभागियों को काशी के घाटों और मंदिर पर बना दो मिनट का शॉर्ट वीडियो दिखाया गया। जिसमें काशी के घाटों की सुंदरता और बनारस के मंदिरों की भव्यता दिखाई गई।
निदेशक ने पंकज कुमार ने बताया कि वाई20 भी जी20 के आधिकारिक सहभागिता समूहों में से एक है। इसमें जी20 देशों के 600 से अधिक युवा हिस्सा ले रहे हैं। लोकतंत्र और शासन में युवाओं की भूमिका विषय पर विमर्श होगा। जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। सम्मेलन दुनिया भर से आए प्रतिभागियों को सहयोग और नेटवर्किंग के अवसर प्रदान करेगा।