Search
Close this search box.

हिमाचल में छह और शव मिले, 65 मकान ढहे

– मानसून सीजन में सामान्य से 42 फीसदी अधिक बरसे बादल

शिमला। हिमाचल प्रदेश के शिमला, मंडी और हमीरपुर में शुक्रवार को छह और शव मिले। राजधानी शिमला के समरहिल शिव मंदिर में भूस्खलन में दबे दो और शव मिल गए हैं। मृतकों की संख्या 16 पहुंच गई है। पांच लोग अभी भी लापता हैं।
प्रदेश में शुक्रवार को 65 मकान ढहे और 271 क्षतिग्रस्त हुए हैं। प्रदेश में 875 सड़कें और 1,235 पानी की स्कीमें बंद हैं। वहीं 1,500 ट्रांसफार्मर बंद होने से कई गांवों में बिजली गुल है।
जानकारी के मुताबिक उपमंडल नादौन के गांव रैल में ब्यास नदी में बही महिला का शव शुक्रवार को कांगड़ा के हरिपुर में बरामद हुआ है। महिला की पहचान शारदा कुमारी (50) पत्नी रामश्रवण निवासी गांव रैल के रूप में हुई।
उपमंडल सुंदरनगर स्थित बीएसएल नहर में एक युवक का शव बरामद हुआ है। शव की पहचान नहीं हो सकी है। शव किसी आसपास के क्षेत्र के युवक का है या फिर कुल्लू जिले में आई बाढ़ के बाद बह कर यहां पहुंचा है, इसको लेकर अभी संशय बना हुआ है। वहीं, सांबल पंडोह में बादल फटने के बाद लापता दो प्रवासी मजदूरों के शव भी बरामद हो गए हैं।
राजधानी शिमला के समरहिल के शिव बावड़ी मंदिर में हुए भूस्खलन में मरने वालों का आंकड़ा 16 पहुंच गया है। शवों को खोजने के लिए चलाए जा रहे अभियान के पांचवें दिन शुक्रवार को मामा-भांजे के शव मिले हैं। लापता शंकर नेगी का शिव मंदिर से करीब 500 मीटर दूरी पर मिला है। वहीं, भांजे अविनाश नेगी का शव भी आसपास ही मिला है।
इंदौरा के जलमग्न क्षेत्रों से 54 लोगों को सुरक्षित निकाले
एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और पुलिस के जवान बचाव कार्य में डटे हुए हैं। जिला प्रशासन के अनुसार पांच लोग अब भी लापता हैं। उधर, जिला कांगड़ा के इंदौरा में चल रहा बचाव अभियान शुक्रवार को भी जारी रहा।
प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान 24 जून से 18 अगस्त तक सामान्य से 42 फीसदी अधिक बादल बरसे हैं।